close this ads

Mahavir Jayanti

महावीर जयंती - Mahavir Jayanti
महावीर जयंती (Mahavir Jayanti) is celebrated on the occasion of 24th Jain Tirthankar Shri Mahavir Swami`s birth anniversary also called जन्म कल्याणक (Janma Kalyanak). They spread the message of peace, non-violence and public welfare.

He was born in the hindu month of Chaitra Sukla Triyodashi, BC 599 in royal family of Maharaja Sri Siddhartha and Mata Trishila Rani Devi, In village Kundagram, situated in Vaishali Bihar. In childhood, the name of Lord Mahavir Swamiji was Vardhamana. Read Mahavir Jayanti in Hindi

Read Also:
» महावीर जयंती पर प्रसिद्ध जैन मंदिर!
» णमोकार महामंत्र

Information

Dates
Past Dates
19 April 2016
Upcoming Event
9 April 2017
Futures Dates
29 March 2018
17 April 2019
6 April 2020
25 April 2021
Related Name
Mahavir Janma Kalyanak - महावीर जन्म कल्याणक
Frequency
Yearly / Annual
Duration
1 Days
Begins / Ends (Tithi)
Chaitra Sukla Triyodashi
Months
March / April
Reason
Birth Anniversary of Shri Mahavir Swami
Celebrations
Bhajan/Kirtan, Religious Rituals, Prayers in Jain Temple

Mahavir Jayanti in Hindi

हिन्दू और जैन पंचांग के अनुसार, जैन धर्म के चौबीसवें तीर्थंकर श्री महावीर स्वामी के जन्म-दिवस के अवसर पर महावीर जयंती मनाई जाती है। उन्होंने `अहिंसा परमोधर्म` के सिद्धांत और लोक कल्याण का मार्ग अपना कर विश्व को शांति का सन्देश दिया।

भगवान श्री महावीर स्वामी का जन्म ईसा से 599 वर्ष पूर्व चैत्र मास के शुक्ल पक्ष में त्रयोदशी तिथि को वैशाली स्थित के गांव कुंडग्राम बिहार में लिच्छिवी वंश राजपरिवार के महाराज श्री सिद्धार्थ और माता त्रिशिला रानी देवी के यहां हुआ था। बचपन में भगवान महावीर स्वामी का नाम वर्द्धमान था।
Arya Samaj MandirArya Samaj Mandir
आर्य समाज मंदिर (Arya Samaj Mandir), punjabi Bagh is the center of vedic culture and Swami Dayanand Saraswati`s thoughts.
भोग आरती: आओ भोग लगाओ प्यारे मोहन…
आओ भोग लगाओ प्यारे मोहन…
भिलनी के बैर सुदामा के तंडुल, रूचि रूचि भोग लगाओ प्यारे मोहन…
आरती: श्री गणेश - शेंदुर लाल चढ़ायो!
शेंदुर लाल चढ़ायो अच्छा गजमुखको।
दोंदिल लाल बिराजे सुत गौरिहरको।...
मंत्र: श्री गणेश - वक्रतुण्ड महाकाय
वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ।
निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥
दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री गणेश मंदिर!
भगवान श्रीगणेश को विघ्नहर्ता, मंगलमूर्ति, लंबोदर, व्रकतुंड आदि कई विचित्र नामों से पुकारा जाता है। दिल्ली और आस-पास के शहर नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रसिद्ध श्री गणेश मंदिर।
आरती: श्री गणेश जी
Important Shri Ganesh aarti in Ganapati Puja:
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top