close this ads
Next: Ganga Dussehra [4 June] | Gayatri Jayanti [5 June]

Dengue, Swine Flu, Malaria, Typhoid Treatment

डेंगू, स्वाइन फ्लू, मलेरिया, टाइफाइड का उपचार (Dengue, Swine Flu, Malaria, Typhoid Treatment):

भारत का यह सौभाग्य हे कि हमे विरासत में प्राकृतिक चिकित्सा और आयुर्वेदा का सम्पूर्ण और सशक्त बल मिला है। हमारी प्राकृतिक चिकत्सा में डेंगू, स्वाइन फ्लू, मलेरिया, टाइफाइड और बुखार का सरल और समृद्ध उपचार है। जिसके नियमित रूप से प्रयोग करने पर इस बड़ी बीमारी से कुछ ही दिनों में ही समाप्त किया जा सकता है।

उपाय 1 - गिलोय का प्रयोग सबसे महत्वपूर्ण और कारगर उपाय है। डेंगू और स्वाइन फ्लू जैसे खतरनाक बिमारिओं में यह रामबाण के रूप में सिद्ध हुई है। गिलोय आसानी से मिल जाती है और इसकी पहचान भी आसानी से की जा सकती है। गिलोय के तने और पत्तीओं को मसल के उनका रास निकल के आधा कप दिन में दो बार या तीन बार प्रयोग करें। इस साधारण से प्रयोग से खून में प्लैट्स का शीघ्रता से वृद्धि होजाती है।

उपाय 2 - एलोवेरा (घृतकुमारी) यह एक ऐसा पौधा है जो किसी भी मौसम में उगाया और प्रयोग करना सरल और प्रभावकारी है। प्रतिदिन एलोवेरा का सेवन करने बाल व्यक्ति हमेशा स्वस्थ ही रहता है। एलोवेरा के ऊपरी भाग को निकल के उसके गूदा बाले भाग का सेवन करने से सभी प्रकार का बुखार कुछ ही दिनों में समाप्त हो जाता है।

उपाय 3 - गेहूं के ज्वारे का सेवन। यह उपाय कैंसर, डायबटीज़, डेंगू, फ्लू , मियादी बुखार जैसे खतरनाक बीमारियों में बहुत ही कारगर उपाय है। गेहू के ज्वारे की पत्तीओं को लेकर उसका रास को निकल लें। इस रास का सेवन प्रातःकाल खली पेट १/२ और १ कप प्रयोग बहुत ही कारगर है।

उपाय 4 - 5 पत्ते तुलसी के, नीम की गिलोई का सत 5 ग्राम, सोंठ 10 ग्राम, 10 छोटी पीपर के टुकड़े सभी को एक जगह पे काट लें। अब इन सब को एक गिलाश पानी में उबाल लें। और तब तक उबालें जब तक आधा गिलाश पानी न रह जाये। ठंडा होने के बाद इसे सुबह दुपहर और शाम को प्रयोग करें। एक से दो नीं में आपको फरक महसूस होने लगेगा।

उपाय 5 - हरिसिंगर के पेड़ की 5 पत्तियां को लेके उसकी चटनी बना लें। इस चटनी को 1 गिलाश पानी में उबाल लें। और इसे तब तक उबालें जब तक यह आधा गिलाश पानी न रह जाये। इसे प्रातःकाल खली पेट ही सेवन करें। इस प्रयोग से पुराने से पुराना बुखार, मलेरिया, ब्रेन मलेरिया, फ्लू गठिया का रोग समाप्त हो जाता है।
- Abhishek Pratap Singh
पत्तल में खाने के महत्व
» पलाश के पत्तल में भोजन करने से स्वर्ण के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
» केले के पत्तल में भोजन करने से चांदी के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
मटके के पानी के फायदे!
» इस पानी को पीने से थकान दूर होती है।
» इसे पीने से पेट में भारीपन की समस्या भी नहीं होती।
» मटके की मिट्टी कीटाणुनाशक होती है जो पानी में से दूषित पदार्थो को साफ करने का काम करती है।
कभी सोचा कि प्लेटलेट्स हमारे लिए इतनी क्यूँ महत्वपूर्ण है?
मेडिकल साइंस में सबसे ज्यादा प्रचलन में आने वाला शब्द है वो है प्लेटलेट्स (Platelets) ǀ जब कभी मरीज डेंगू और वायरल बुखार कि चपेट में कोई आता है तो डॉक्टर सबसे पहले आपकी प्लेटलेट्स की ही जांच के लिए ही बोलता है ǀ लेकिन कभी अपने सोचा?
भारतीय गाय और उनकी नेत्र ज्योति के लिए उपयोगता
गाय के शरीर पर प्रतिदिन 15-20 मिनट हाथ फेरने से B.P.भी ठीक होता है और नेत्र ज्योति भी बढ़ती है।...
जाने त्रिफला क्या है? और उसके प्रयोग
What is Trifla? and its uses: त्रिफला का अर्थ है तीन फल का मिश्रण। हरड़, बहेड़ा और आंवला ये तीन फल के मिश्रण को त्रिफला कहते हैं। जब ये तीन फल मिल कर जब त्रिफला बनता है इस को आयुर्वेद में एक रसायन के रूप में माना जाता है।...
Daily Useful Health Tips using Dohawali
पानी में गुड डालिए, बीत जाए जब रात! सुबह छानकर पीजिए, अच्छे हों हालात!!
धनिया की पत्ती मसल, बूंद नैन में डार! दुखती अँखियां ठीक हों, पल लागे दो-चार!!
दिमागी कमजोरी में फायदेमंद कुछ फल
आयुर्वेद की नजर से शंखपुष्पी स्मरणशक्ति को बढ़ाकर मानसिक रोगों व मानसिक दौर्बल्यता को नष्ट करती है। शंखपुष्पी का नाम इसके शंख आकृति के फूलों के कारण पड़ा है।...
Facts on Sahad (Honey) and Dalchini (Cinnamon)
It is found that a mix of honey (Hindi: Sahad - शहद) and cinnamon (Hindi: Dalchini - दालचीनी) cures most diseases. Honey is produced in most of the countries of the world...
8 Ways For Quit Smoking
According to World Health Organization (WHO) report, tobacco kills 150 people every hour in the South-East Asia Region. This data is unacceptable by everyone...
Decrease 25 kg in 2 months
आज के व्यस्त और सघर्ष भरी जिंदगी में लोग इतने व्यस्त हैं की अपने शरीर पे बिलकुल ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। इसका का कारण है की वह सभी तरफ से प्रतिदिन बिमारिओं से घिरते जा रहे हैं।...
Bhagwan Valmiki MandirBhagwan Valmiki Mandir
Swami Raghawanand Ji Maharaj from Delhi Udasin Ashram inaugurated भगवान वाल्मीकि मंदिर (Bhagwan Valmiki Mandir) on the occasion of Valmiki Jayanti in 2015. Valmiki temple is easily accessible from Rohini East metro station.
सहारनपुर और कश्मीर की हालत
कत्ल-ओ-गारत के इस खेल को ,क्यो बढा रहे हो तुम..

दुशमन हर तरफ बैठा है ,पर खुद पर पत्थर चला रहे हो तुम...
मसखरी - Maskhari
ऐसा लग रहा है कि विजय माल्या रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर टीम के खिलाडियों का पैसा भी दबा कर भगे हैं , आईपीएल में उन बेचारों का मारे अफ़सोस के परफॉरमेंस ही बिगड़ गया 🙂
घुरपेँच - Ghurpainch
आज लोगों को कब Sorry, Excuse Me, Thank You बोलना है, पता है।
पर सामने-वाले को हिन्दी मे आप (तू नहीं) बोलना होता है, बस ये नहीं पता।
मेरा नमस्ते कहना...
X ने Y को कहा, कि मेरा प्रणाम Z को बोलना...
अतः X चाहते हैं कि Y, Z को आज एक बार और प्रणाम करें।
अर्थात Y, Z से आज, एक बार और विनम्रता पूर्वक संवाद स्थापित करें।
कटप्पा ने बाहुबली क्यों मारा?
कटप्पा ने बाहुबली क्यों मारा?
...भारत को! ये जानना ज़्यादा इम्पोर्टेंट है क्या...?
प्रेरक कहानी: बाँके बिहारी जी का प्रेम
एक बार मैं ट्रेन से आ रहा था मेरी साथ वाली सीट पे एक वृद्ध औरत बैठी थी जो लगातार रो रही थी...
मैंने बार बार पूछा मईया क्या हुआ, मईया क्या हुआ?
प्रेरक कथा: मैं ना होता तो क्या होता ?
पर हनुमान जी, प्रभु श्रीराम से कहते है...
प्रभु, यदि मैं लंका न जाता, तो मेरे जीवन में बड़ी कमी रह जाती। विभीषण का घर जब तक मैंने नही देखा था, तब तक मुझे लगता था, कि लंका में भला सन्त कहाँ मिलेंगे...
दिल्ली के प्रमुख श्री कृष्ण प्रणामी मंदिर
List of top Shri Krishna Pranami Dharm Temples in New Delhi, Noida, Ghaziabad...
दिल्ली के प्रसिद्ध वाल्मीकि मंदिर!
Maharishi Valmiki is considered as the first poet of Sanskrit language. Indian valmiki samaj worship him as a God. List of Bhagwan Valmiki temples of New Delhi, Noida, Ghaziabad, and Gurugram.
दिल्ली के प्रसिद्ध श्री शनिदेव मंदिर - 25 May 2017
Surydev's son Shri Shanidev governs planet Saturn, one of the member in Navgrah. Devotees pray Him on weekday Saturday.
List of top famous Shri Shanidev temples in New Delhi, Noida, Gurugram and Ghaziabad...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top