close this ads

मटके के पानी के फायदे!

आयुर्वेद में मटके के पानी को शीतल, हल्का, स्वच्छ और अमृत के समान शुद्ध बताया गया है। यह प्राकृतिक जल का स्रोत है जो ऊष्मा से भरपूर होता है और शरीर की गतिशीलता बनाये रखने के साथ ही शीतलता भी प्रदान करता है।

» इस पानी को पीने से थकान दूर होती है।
» इसे पीने से पेट में भारीपन की समस्या भी नहीं होती।
» मटके की मिट्टी कीटाणुनाशक होती है जो पानी में से दूषित पदार्थो को साफ करने का काम करती है।
» सुबह के समय इस पानी के प्रयोग से दिल और आंखों की सेहत दुरूस्त रहती है।
» गला, भोजननली और पेट की जलन को दूर करने में मटके का पानी काफी उपयोगी होता है।
» घड़े का पानी रखें पीएच स्तर को संतुलित।
» गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद।
» मटके का पानी रखें वात दोष को संतुलित।
» मिट्टी के घड़े मे विषैले पदार्थ सोखने की शक्ति।
- Bhaskar
पत्तल में खाने के महत्व
» पलाश के पत्तल में भोजन करने से स्वर्ण के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
» केले के पत्तल में भोजन करने से चांदी के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
मटके के पानी के फायदे!
» इस पानी को पीने से थकान दूर होती है।
» इसे पीने से पेट में भारीपन की समस्या भी नहीं होती।
» मटके की मिट्टी कीटाणुनाशक होती है जो पानी में से दूषित पदार्थो को साफ करने का काम करती है।
कभी सोचा कि प्लेटलेट्स हमारे लिए इतनी क्यूँ महत्वपूर्ण है?
मेडिकल साइंस में सबसे ज्यादा प्रचलन में आने वाला शब्द है वो है प्लेटलेट्स (Platelets) ǀ जब कभी मरीज डेंगू और वायरल बुखार कि चपेट में कोई आता है तो डॉक्टर सबसे पहले आपकी प्लेटलेट्स की ही जांच के लिए ही बोलता है ǀ लेकिन कभी अपने सोचा?
भारतीय गाय और उनकी नेत्र ज्योति के लिए उपयोगता
गाय के शरीर पर प्रतिदिन 15-20 मिनट हाथ फेरने से B.P.भी ठीक होता है और नेत्र ज्योति भी बढ़ती है।...
जाने त्रिफला क्या है? और उसके प्रयोग
What is Trifla? and its uses: त्रिफला का अर्थ है तीन फल का मिश्रण। हरड़, बहेड़ा और आंवला ये तीन फल के मिश्रण को त्रिफला कहते हैं। जब ये तीन फल मिल कर जब त्रिफला बनता है इस को आयुर्वेद में एक रसायन के रूप में माना जाता है।...
Daily Useful Health Tips using Dohawali
पानी में गुड डालिए, बीत जाए जब रात! सुबह छानकर पीजिए, अच्छे हों हालात!!
धनिया की पत्ती मसल, बूंद नैन में डार! दुखती अँखियां ठीक हों, पल लागे दो-चार!!
दिमागी कमजोरी में फायदेमंद कुछ फल
आयुर्वेद की नजर से शंखपुष्पी स्मरणशक्ति को बढ़ाकर मानसिक रोगों व मानसिक दौर्बल्यता को नष्ट करती है। शंखपुष्पी का नाम इसके शंख आकृति के फूलों के कारण पड़ा है।...
Facts on Sahad (Honey) and Dalchini (Cinnamon)
It is found that a mix of honey (Hindi: Sahad - शहद) and cinnamon (Hindi: Dalchini - दालचीनी) cures most diseases. Honey is produced in most of the countries of the world...
8 Ways For Quit Smoking
According to World Health Organization (WHO) report, tobacco kills 150 people every hour in the South-East Asia Region. This data is unacceptable by everyone...
Decrease 25 kg in 2 months
आज के व्यस्त और सघर्ष भरी जिंदगी में लोग इतने व्यस्त हैं की अपने शरीर पे बिलकुल ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। इसका का कारण है की वह सभी तरफ से प्रतिदिन बिमारिओं से घिरते जा रहे हैं।...
Chhatarpur MandirChhatarpur Mandir
छत्तरपुर मंदिर (Chhatarpur Mandir) a group of temples like Maa Katyayani Mandir, Shri Laxmi Vinayak Mandir, Baba Jharpeer Mandir, Markandeya Mandapam, 101 feet Hanuman Murti. Temple popularly known as श्री आद्या कत्यायानी शक्ति पीठ मंदिर (Shri Adya Katyayani Shaktipeeth Mandir)
मसखरी - Maskhari
ऐसा लग रहा है कि विजय माल्या रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर टीम के खिलाडियों का पैसा भी दबा कर भगे हैं , आईपीएल में उन बेचारों का मारे अफ़सोस के परफॉरमेंस ही बिगड़ गया 🙂
घुरपेँच - Ghurpainch
आज लोगों को कब Sorry, Excuse Me, Thank You बोलना है, पता है।
पर सामने-वाले को हिन्दी मे आप (तू नहीं) बोलना होता है, बस ये नहीं पता।
मेरा नमस्ते कहना...
X ने Y को कहा, कि मेरा प्रणाम Z को बोलना...
अतः X चाहते हैं कि Y, Z को आज एक बार और प्रणाम करें।
अर्थात Y, Z से आज, एक बार और विनम्रता पूर्वक संवाद स्थापित करें।
कटप्पा ने बाहुबली क्यों मारा?
कटप्पा ने बाहुबली क्यों मारा?
...भारत को! ये जानना ज़्यादा इम्पोर्टेंट है क्या...?
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही...
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही, हमें फ़र्क़ था माझे पर नाज था!!
डूवी मेरी कश्ती पतवार के हाथो ही, हमें फ़र्क़ था पतवार पर नाज था!!
मंत्र: महामृत्युंजय मंत्र, संजीवनी मंत्र
ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥
आरती: श्री पार्वती माँ
जय पार्वती माता, जय पार्वती माता, ब्रह्मा सनातन देवी, शुभ फल की दाता।
अरिकुल कंटक नासनि, निज सेवक त्राता, जगजननी जगदम्बा हरिहर गुण गाता।
श्री शनि जयंती के लिए दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर - 25 May 2017
श्री शनि जयंती! सूर्य देव एवं देवी छाया के पुत्र श्री शनिदेव के अवतरण दिवस के रूप मे मनाई जाती है।
आगे देखिए दिल्ली, गाज़ियाबाद के कुछ प्रसिद्ध मंदिर जहाँ मनाई जाती है, श्री शनि जयंती!
आरती: श्री शनिदेव जी
जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।
सूरज के पुत्र प्रभु छाया महतारी॥जय जय..॥
चालीसा: श्री शनिदेव जी
जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल करण कृपाल।
दीनन के दुख दूर करि, कीजै नाथ निहाल॥
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top