close this ads

Parsley Seed (अजवायन) Protect from Chronic Diseases

Parsley Seed (अजवायन) Protect from Chronic Diseases
Parsley seed has been used as taste enhancer and preservative in food product from ancient time. Ayurveda is also use as remedy for prevent cardiac disease, urinary disease, diabetes and some chronic disease. Recently study by scientists, parsley has been used as a gastro tonic, diuretic, carminative, antiseptic of urinary tract, anti-dote, anti-urolithiasis and anti- inflammatory and for the treatment of dysmenorrhea, amenorrhea, gastrointestinal disorder, hypertension, cardiac disease, urinary disease, sniffle and diabetes.

Parsley seed have many pharmacological activity including antioxidant, hepatoprotective, brain protective, anti-diabetic, analgesic, immunosuppressant, spasmolytic, anti-platelet, gastroprotective, cytoprotective, laxative, estrogenic, diuretic, hypotensive, antibacterial and antifungal.

» In cold, in the case of a closed nose, grind celery crackers and wrap them in fine cloth, smelling it will open the nose.
» Take 2-3 grams parsley seed and grind them and make powder. Eating yogurt (दही) or buttermilk (छाछ) together with the powder. It will help in kills intestinal worms.
» 2-3 grams parsley seed fry and take it with mild hot water or milk. It is quite beneficial for colds, and stomach diseases.
» Grind 10 g parsley seed, add the 1/2 lime juice squeezed, 5 grams alum powder and buttermilk together and rub it into the hair Juan die and dandruff (जुएं) are also fine.
» Those who want to quit alcohol parsley seed acts like Ramvan (रामवाण ). 1/2 kg of parsley 4 liters of water until the hot water to 2 liters remains. Keep the mixture by filtering. 1 cup to drink it before meals. It will not wish to drink alcohol.

Hindi Version

अजवायन प्राचीन समय से स्वाद बढ़ाने और खाद्य उत्पाद में संरक्षक के रूप में इस्तेमाल किया गया है। आयुर्वेद के लिए भी हृदय रोग, मूत्र रोग, मधुमेह और कुछ पुरानी बीमारी को रोकने के उपाय के रूप में उपयोग किया जाता है।

» सर्दी जुकाम मे, बंद नाक होने की स्थति मे, अजवाइन दरदरा पीस कर बारीक कपड़े मे बाँध लें, इसे सूंघने से नाक खुल जाएगी।
» 2-3 ग्राम अजवायन को पीसकर उसका पाउडर बना लें। उस पाउडर को दही या छाछ के साथ मिलकर खाने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।
» 2-3 ग्राम अजवायन को भून कर सुबह-शाम हल्के गरम पानी या दूध के साथ लेने से सर्दी, जुकाम, और पेट के सभी रोगों में काफी लाभ होता है।
» 10ग्राम अजवायन को बारीक़ पीसकर उसमे 1/2 नीबू का रास निचोड़ कर डालें, 5 ग्राम फिटकरी पाउडर व छाछ को मिलाकर बालों में मलने से बालों के जुएं मर जाते हैं और रुसी भी ठीक हो जाती है।
» जो एल्कोहल छोड़ना चाहते हैं अजवायन उनके लिए रामवाण की तरह काम करती है। 1/2 किलोग्राम अजवायन को 4 लीटर पानी में गरम करें जब तक पानी 2 लीटर न बचे। अब इस मिश्रण को छान कर रखें। इसे भोजन से पहले 1 कप पियें। इससे शराब पिने की इच्छा नहीं होगी।
- Acharya Bal Krishan Ji Maharaj
If you love this article please like, share or comment!
Parsley Seed (अजवायन) Protect from Chronic Diseases
सर्दी जुकाम मे, बंद नाक होने की स्थति मे, अजवाइन दरदरा पीस कर बारीक कपड़े मे बाँध लें, इसे सूंघने से नाक खुल जाएगी।...
Luffa (Loofah) Improves Eyesight
तोरई मे बीटा-केरोटीन पाया जाता है, जो नेत्र ज्योति बढ़ता है।
इसके सेवन से रक्त की शुद्धि होती है।...
Health Benefits of Green Lady Finger
भिंडी मे विटामिन A बहुताय मात्रा मे पाया जाता है, जिसके सेवन से आँखों की रोशनी बढ़ती है।
भिंडी मे चिपचिपा पदार्थ पाया जाता है, जो कि हमारी हड्डियों के लिए अत्यंत लाभकारी है।...
Important Health Benefits of Sesame Seeds
सर्दियों मे तिल का सेवन ज़रूर करना चाहिए, इसके सेवन से अत्यधिक ऊर्जा मिलती है।
Carrot can solve heart disease problems
Take 6-7 carrot and allow them to absorb heat from ground or peal and put them in dew. Take caldera or rose decoction with sugar candy to cure heart disease...
सरसों के तेल के स्वास्थ्य से जुड़े उपयोग
प्रतिदिन सोने से पहिले नाभि मे सरसों का तेल लगाने से, होठ फटने के समस्या से निजात मिलती है।...
स्वास्थ्यवर्धक हल्दी और इसका दैनिक उपयोग करता है
हल्दी एक बहुत ही अच्छा antioxidant है। यह लीवर हेतु एक प्राक्रतिक औषधि है। प्रतिदिन एक चम्मच रात को गर्म दूध के साथ सेवन करने से लीवर की समस्या मे राहत मिलती है।...
Black Pepper
काली मिर्च साबुत और उसका पाउडर हर घर में आसानी से मिल ही जाता हे। यदि इसके प्रतिदिन सेवन किया जाये तो इसके ऑक्सीडेंट प्रभाव से कैंसर, खाँसी, कमजोरी आदि जेसी बीमारियों को कम किया जा सकता हे। काली मिर्च के बहुत से गुणकारी प्रभाव भी हैं।...
Apricot Rich Source of Potassium, Fiber and Vitamin A, C
गर्मियों में अमृत खुबानी (Apricot): - गर्मियों मे तरो-ताज़ा और फिट रहने के लिए खुबानी का सेवन अवश्य करें...
Health Benefit of Black Gram
Horse Gram, Bengal Gram, dark brown peas or chana, is widely regarded as an important pulse, contains a good amount of iron, sodium and selenium...
Mandir By BhaktiBharat.com
108 Foot Sankat Mochan Dham108 Foot Sankat Mochan Dham
108 फुट संकट मोचन धाम (108 Foot Sankat Mochan Dham) second highest Hanuman statue in the world founded by Brahamleen Nagababa Shri Sevagir Ji Maharaj (25 Jan, 2008) near Jhandewalan metro station. A Siddha Shri Shani Dev Mandir is also attached with main premises.
घुरपेँच - Ghurpainch
खुले में "शौच" और "साँस" दोनों की ही मनाही...
मसखरी - Maskhari
उड़ते उड़ते ख़बर आयी है कि विश्व के सभी देशों की यात्रा निपटाने के बाद मोदी जी चाँद पर भी जाएँगे l
Kavi Vinod Pandey Ki Kalam - 2017
करवा चौथ स्पेशल...
मेरा सर कूल हो कर बाल के कुछ बीज बोता है...
Bachpan to Reebok
पढ़-लिख कर हमने कार खरीदी :(
और वो...
अनपढ़ रह कर भी पेड़ लगाने चल दिए!!
दिल्ली एन.सी.आर. में भारी वर्षा
दिल्ली मे बारिश हुई नही और टीवी, इंटरनेट, मोबाइल और रोड नेटवर्क सब जाम से जाम छलकाते मिलेंगे :)
अधूरा पुण्य - Adhura Punya
दिनभर पूजा की भोग, फूल, चुनरी, आदि सामिग्री चढ़ाई - पुण्य
पूजा के बाद, गन्दिगी के लिए समान पेड़/नदी के पास फेंक दिया - अधूरा पुण्य
अपने पुण्य को अधूरा ना छोडे, पुण्य पूरा ही करें...
मन की बात - Mann Ki Baat
मन की बात (Mann Ki Baat) is an Indian radio programme hosted by the Prime Minister Narendra Modi in which he freely addresses to the people of nation on radio, DD(Doordarshan) National and DD News.
Say NO to Plastic Bags!
ग़लत सोच: कोई आइटम हाथ मे अच्छा नही लगता, इस लिए पॉलिबॅग मे डाल लेते हैं।
सही सोच: पॉलिबॅग हाथ मे अच्छा नही लगती, इसलिए आइटम हाथ मे ही ले लेते हैं।
RSS की देशहित गतिविधियाँ
हिंदू कैलेंडर के मुताबिक नव वर्ष की शुरुआत चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से होती है। इसे हिंदू नव संवत भी कहते हैं। माना जाता है कि, भगवान ब्रह्मा जी ने इसी दिन सृष्टि की रचना शुरू की थी।
XOR and XNOR Implementation using JavaScript
Conceptual representation of XOR using Truth Table, Conceptual representation of XNOR using Truth Table and javascript representation.
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top