close this ads

बसंत ऋतु में न करें दही का सेवन

बसंत ऋतु में न करें दही का सेवन
बसंत ऋतु में कफ की समस्या अधिक रहती है एवं दही कफ को बढ़ती है अतः इस ऋतु में दही का सेवन नही करना चाहिए। बसंत ऋतु में कफनाशक पदार्थों जैसे अदरक, हल्दी, आँवला तथा मैथी आदि का सेवन करना चाहिए।

English Version

There is a problem in spring and yogurt expectoration of phlegm rising so this season should not consume yogurt. In spring, materials such as ginger, turmeric, Amla and Matthey etc. should be taken.

Hindi Version in English
Basant ritu mein kaf ki samasya adhik rahati hai aur dahi kaf ko badhati hai isliye is ritu mein dahi ka sevan nahi karana chahiye. Basant ritu mein kaf-nashak padarthon jaise adarak, haldee, anwala aur maithi etc. ka sevan karana chahiye.
- Acharya Bal Krishna Ji Maharaj
हाथ-पैरों में आने वाले ‪पसीने‬ का उपचार
आँवला चूर्ण एवं पिसी हुई मिश्री बराबर मात्रा मे मिलाकर प्रतिदिन सुवह - शाम 1-1 चम्मच सेवन करने से...
गर्मियों में हाथ पैरों में अकड़ाहट
इसलिए प्याज के रस को गुनगुना करके हथेलियों और पैर के तलवों की मालिश करने से अकड़ाहट मे लाभ मिलता है...
तलवों मे जलन को दूर करें
गुनगुने पानी मे एक चम्मच सरसों का तेल डालकर दोनो पैर दस मिनट के लिए इसमें डुबाकर रखें...
गर्मी का हेल्थड्रिंक, सत्तू !
गर्मी मे सत्तू का सेवन हेल्थ-ड्रिंक या कोल्ड-ड्रिंक की तरह करें।
गर्मियों मे प्यास बुझाने के लिए सत्तू के शर्बत का सेवन लाभकारी होता है...
गर्मियों मे प्याज अम्रत तुल्य!
प्रतिदिन भोजन के साथ कच्चा प्याज सलाद के रूप मे सेवन करने से लू से बचाव होता है। यह भूख ना लगने तथा पतले दस्त होने पर अत्‍यन्त लाभकारी है...
घमौरियों(Prickly Heat Rash) से राहत के उपाय।
सूती एवं ढीले-ढाले कपड़े पहिने, बाहर से आने पर नहाने के बाद नारियल तेल पूरे शरीर पर लगाएँ...
गर्मियों मे आम पन्ना अम्रत समान है!
आम का पन्ना, एक पारम्परिक भारतीय पेय है, इसे आम प्रचलित हानिकारक सॉफ्टड्रिंक के स्वाथ्य वर्धक पेय के रूप मे उपयोग लाना चाहिए...
पेट दर्द मे आरम के लिये पिये।
Mix 1 tsp each of mint juice and lime juice. Add some ginger juice and black salt in it. Drink this mixture for quick stomach pain relief.
दांतों से कीड़ा हटाने के घरेलु उपाय
पिसी हुई हल्दी और नमक को सरसों के तेल में मिला कर, इसे प्रतिदिन 2-4 बार दांतों पर मंजन की तरह मलने से कीड़े मर जाते हैं।
कीड़े लगे दांतों के खोखले भाग में लौंग का तेल रुई में भिगोकर लगाने से कीड़े नष्ट होते हैं।
आँख आना - Conjunctivitis
दूध पे जमी मलाई उतार कर, आँखें बंद करके पलकों के ऊपर रख लें। और रूई के साथ पट्टी बाँध लें, यह प्रयोग रात मे सोते समय करें।
Baba Bateshwarnath DhamBaba Bateshwarnath Dham
बाबा बटेश्वरनाथ धाम (Baba Bateshwarnath Dham) is the series/group of ancient 101 Lord Shiv temples therefore called Dham. Hindus make pilgrimage to the river Yamuna in honour of Lord Shiva. Some of the temples have decorative ceilings and ornamental walls.
मसखरी - Maskhari
सोनिया जी को भगवान श्रीकृष्ण जी से कुछ ज्यादा ही प्रेम है वरना प्रधानमंत्री के लिए मनमोहन, राष्ट्रपति के लिए मीरा और उपराष्ट्रपति के लिए गोपाल कृष्ण का नाम न आता...
Kavi Vinod Pandey Ki Kalam - 2017
जितना था वादा किया,उतना न काम दिखा
इसलिए शासन की तह खोलने लगा,
घुरपेँच - Ghurpainch
Q: ऑफ़स मे आपका ईशान कोण किस दिशा मे है?
A: जिस दिशा मे आपके बॉस की सीट हो, वही आपकी उत्तम दिशा है ;)
दिल्ली एन.सी.आर. में भारी वर्षा
दिल्ली मे बारिश हुई नही और टीवी, इंटरनेट, मोबाइल और रोड नेटवर्क सब जाम से जाम छलकाते मिलेंगे :)
गुरुग्राम! शहरों का नया नज़रिया
मैं: भाई कैसे हो, और क्या हाल हैं फ़िरोज़ाबाद के?
दोस्त: वडिया, खूब बारिश हो रही है फ़िरोज़ाबाद में...
दिल्ली के प्रमुख श्री कृष्ण प्रणामी मंदिर
List of top Shri Krishna Pranami Dharm Temples in New Delhi, Noida, Ghaziabad...
दिल्ली और कहाँ मनाएँ श्री कृष्ण जन्माष्टमी
दिल्ली और आस-पास के शहर नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रसिद्ध मंदिर, जहाँ आप धूम-धाम से मना सकते श्री कृष्ण जन्माष्टमी।
दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर।
दिल्ली और आस-पास के शहर नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर।
ब्रजभूमि के प्रसिद्ध मंदिर
ब्रजभूमि (Brajbhoomi) or ब्रिजभूमि (Brijbhoomi) is the region related to childhood activities of Lord Krishna. Enriched prosperity of crop and cattles, center of high volume spiritual and cultural activities.
जन्माष्टमी भजन: यगोविंदा आला रे आला...
गोविंदा आला रे आला
ज़रा मटकी सम्भाल बृजबाला
अरे एक दो तीन चार संग पाँच छः सात हैं ग्वाला...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top