प्राण मुद्रा

प्राण मुद्रा
बचपन से ही चश्मा का लगना, प्राणशक्ति को बढ़ाना और शारीर को निरोग रखना प्राण मुद्रा इसके लिए रामवाण का कम करती है।

इस मुद्रा को प्राणशक्ति का एक मात्र केंद्र माना जाता है इसके नियमित प्रयोग से प्राणशक्ति बढ़ती है। शारीर निरोग भी रहता है।
यदि आँखों के चश्मा का नम्बर कुछ ज्यादा ही बढ़ता जा रहा हे तो आपको इस मुद्रा का प्रतिदिन प्रयोग करना सुरु कर देना चाहिए। यह मुद्रा अत्यधिक लाभदायक है।

विधि
कनिष्ठका और उसके बगल वाली उंगली अनामिका दोनों उंगलियों को एक साथ अंगूठे से स्पर्श कराएं तथा शेष दोनों उँगलियों को सीधा ही रखे और ध्यान करिये।
- Abhishek Pratap Singh
Watch, Hindi, Lyrics: Adiyogi - The Source of Yoga
दूर उस आकाश की गहराइयों में, एक नदी से बह रहे हैं आदियोगी...
गीत - प्रसून जोशी, ध्वनि एवं रचना - कैलाश खेर
Steps of Surya Namaskar
Pranamasana (Prayer pose), Hastauttanasana (Raised Arms pose), Hasta Padasana (Hand to Foot pose)...
Yoga is India`s Gift to the World
Sadhguru at United Nations, 2nd International Day of Yoga...
वरुण मुद्रा
शरीर में पानी की कमी से भिन्न प्रकार के चर्म रोग हो जाते हैं। शारीर में रक्तविकार से एनीमिया रोग को वरुण मुद्रा प्रतिदिन अभ्यास से दूर किया जा सकता है...
पृथ्वी मुद्रा
शारीर का दुबलापन या किसी कारण शारीर के तेज में कमी आना, हर दूसरा व्यक्ति इस बीमारी से ग्रषित है। पृथ्वी मुद्रा के नियमित प्रयोग से शारीर में किसी कारण से आई दुर्वलता दूर हो जाती है...
ज्ञान मुद्रा
भारतीय संस्कृति में सबसे ज्यादा ज्ञान मुद्रा को प्राथमिकता दी जाती है। जिस कारण ही हमारे पूर्वज और ऋषिओं को सर्वज्ञ ज्ञान था। प्राचीनकाल में हमारे ऋषि महापुरुष वर्षों ज्ञान मुद्रा में बैठ कर ध्यान किया करते थे जिस कारन उनका ज्ञान सर्वत्र पूजनीय है...
वायु मुद्रा
जोड़ों का दर्द, हाथ-पैर के जोड़ों में दर्द और यदि लकवा के कारण शारीर में आयी कमजोरी और दर्द में वायु मुद्रा का प्रयोग बहुत ही लाभकरी है...
प्राण मुद्रा
बचपन से ही चश्मा का लगना, प्राणशक्ति को बढ़ाना और शारीर को निरोग रखना प्राण मुद्रा इसके लिए रामवाण का कम करती है..
अपानवायु मुद्रा
ह्रदय के विभिन्न रोग जैसे ह्रदय की अचानक तेज या मन्द गति होजाना, ह्रदय का धीरे-धीरे बैठ जाना और घवराहट होने पर इस मुद्रा के प्रयोग से तुरन्त लाभ होता है...
लिंग मुद्रा
शारीर में उष्णता भडानी हो तो लिंग मुद्रा का प्रयोग करना सबसे ज्यादा लाभदायक है। खाँसी और कफ को जड़ से मिटाने के लिए ये सबसे अधिक प्रभावशाली मुद्रा है।
Chhatarpur MandirChhatarpur Mandir
छत्तरपुर मंदिर (Chhatarpur Mandir) a group of temples like Maa Katyayani Mandir, Shri Laxmi Vinayak Mandir, Baba Jharpeer Mandir, Markandeya Mandapam, 101 feet Hanuman Murti. Temple popularly known as श्री आद्या कत्यायानी शक्ति पीठ मंदिर (Shri Adya Katyayani Shaktipeeth Mandir)
Maskhari - मसखरी
सरकारी लालबत्ती पर तो रोक लग गई, परन्तु अपार ऊर्जा के भंडार, अति उत्साहित एवं स्वघोषित दबंग टाइप के होनहार नौजवान लोग जो मंगनी की मोटर साईकिल पर भी भोंपू लगा कर रात-दिन पों-पों करते रहते हैं, उनका क्या होगा?
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही...
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही, हमें फ़र्क़ था माझे पर नाज था!!
डूवी मेरी कश्ती पतवार के हाथो ही, हमें फ़र्क़ था पतवार पर नाज था!!
मेरे वजूद पर अंकुश, लगाने का सुनाते है फरमान!!
सांस लेने पर प्रतिबंध जैसे, संसार पर हम है भार!!
न लव्ज न सोंच न स्वप्न, विन आत्मा है पाषाण!!
घुरपेँच - Ghurpainch
सर्च करो इंडिया के फेमस फेस्टिवल्स?
टॉप 15 मे से, स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्रता दिवस और गाँधी जयंती नही मिलेंगे आपको..
फिर भी हम राष्ट्रवादी नौजवान हैं।
Katappa Ne Bahubali Kyu Mara?
कटप्पा ने बाहुबली क्यों मारा?
...भारत को! ये जानना ज़्यादा इम्पोर्टेंट है क्या...?
भजन: सर को झुकालो, शेरावाली को मानलो।
सर को झुकालो, शेरावाली को मानलो, चलो दर्शन पालो चल के।
करती मेहरबानीयाँ, करती मेहरबानियां॥
दिल्ली के प्रसिद्ध वाल्मीकि मंदिर!
Maharishi Valmiki is considered as the first poet of Sanskrit language. Indian valmiki samaj worship him as a God. List of Bhagwan Valmiki temples of New Delhi, Noida, Ghaziabad, and Gurugram.
Top Famous Mata Temples in Delhi NCR
List of top famous Mata Adishakti, Devi Durga and Maa Kali temples in New Delhi, Noida, Gurugram and Ghaziabad...
दिल्ली के प्रसिद्ध हनुमान बालाजी मंदिर!
List of leading Lord Hanuman temples of New Delhi, Noida, Ghaziabad. Hanuman Ji is great devotee of Shri Rama. Hanuman is an incarnation of Lord Shiva.
दिल्ली और आस-पास के मंदिरों मे शिवरात्रि की धूम-धाम!
Shivling is physical form of Lord Shiva. Celebrate this Maha Shivaratri with these temples on coming 24 February 2017 with Lord Shiv with Maa Parvati. List of leading, famous and popular temples celebrating shivaratri in New Delhi, Noida, Ghaziabad and Gurugram.
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top