Home » Literature

Literature

Bachpan to Reebok
अंगूठा टेक थे, जब हम। सरकार ने करना हमें, साइन सिखाया।
पढना सीख गए, जब हम। आधार पे फिर, अंगूठा टेकना सिखाया।
Poetry | by: Nitin Pratap Singh
प्रकृति को अपनायें
प्रकृति से आप जितना प्रेम करेंगे उससे कई अधिक प्रकृति आपसे प्रेम करेगी।प्रकृति में हर बीमारी का सरल और सुगम्य उपचार समाहित है.....
Thoughts | by: Abhishek Pratap SIngh
हे इंसान तूने ये क्या किया?
सारे टाइम भगवान को कोसते ही रहे हम, मुझे ये नहीं दिया, वो नहीं दिया
जब उस ऊपर वाले ने रहिने के लिए मकान दिया, फिर रेंट की फर्जी स्लिप बनाने मे बिज़ी हो गये हम :)
Thoughts | by: Nitin Pratap Singh
Kavi Vinod Pandey Ki Kalam - 2016
कहते थे सब लोग नाम से मुलायम हैं, निकले बड़े कठोर नाम के नहीं हुए
काम बोलने लगा तो अखिलेश को हटाये, वही जो कभी भी किसी काम के नहीं हुए ...
Poetry | by: विनोद पांडेय
उसे हम आँगन मे लगा ना सके...
जो तुलसी का छोटा सा पौधा, हमारे आँगन के लिए उपयुक्त था।
उसे हम आँगन मे लगा ना सके...
Poetry | by: Nitin Pratap Singh
पहिले फेमिली प्लॅनिंग सही से कर लो भैया...
जिन लोगों से अपनी फॅमिली प्लानिंग सही से नहीं होती,
वो बोल रहे हैं...
Jokes | by: Laukendra Singh
ये लाल किला किसने बनवाया?
आगरा के लाल किले को अकबर ने बनवाया था?
या फिर...
पान खाकर थूकने वालों ने बाद मे इसे लाल किला बना दिया
Jokes | by: Nitin Pratap Singh
ऐ शाम की धूप कुछ कहना है चाहती
शाम को पंछी कुछ सीखना चाहते हैं,
अपनी एकता की शक्ति को दिखना चाहते हैं...
Poetry | by: Abhishek Pratap Singh
causes of demonetization
अभी जो लाइन मे खड़े थे, कभी ये चुप खड़े थे।
पहिले चुप ना रहे होते, तो लाइन मे खड़े नहीं होते।
Thoughts | by: Nitin Pratap Singh
न्यू ईयर कितनी जल्दी आगया
अगर आपने बीते साल मे बहुत सारे टास्क पूरे कर लिए होते, तब आपको नही लगता कि आपका बीता साल बहुत जल्दी निकल गया।
Thoughts | by: Nitin Pratap Singh
Page 1Next »
Sri Rangji MandirSri Rangji Mandir
श्री रंगजी मंदिर (Sri Rangji Mandir) inspiration architecture of Sri Varadaraja Temple, Kanchipuram. The mix efforts of south and north Indian temple architecture.
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top
close this ads