close this ads
Today, Mata Skandamata - माता स्कन्दमाता worshiped during Shardiya Navratri 2017.

Bachpan to Reebok

पढ़-लिख कर हमने कार खरीदी :(
और वो...
अनपढ़ रह कर भी पेड़ लगाने चल दिए!!

अंगूठा टेक थे, जब हम
सरकार ने करना हमें, साइन सिखाया।
पढना सीख गए, जब हम
आधार पे फिर, अंगूठा टेकना सिखाया।

वोट देते हैं जब जब भी
नेता घुमाते हैं इतना क्यों?
चुनाव आते हैं जब जब भी
नेता घुमते है इतना क्यों?

जब हम कम पढ़े थे तब, साइकिल चलाते थे।
अब हम पढ़ गए फिर, तो प्रदूषण फैलाते हैं।
क्या सच है यही पढ़ना, या हम अफवा फैलाते हैं।

बचपन मे थेंक्स नहीं बोलते थे...
तब गाली भी तो नहीं जानते थे,
अभी जब थेंक्स बोलना सीख लिये हम...
फिर अब गाली भी तो सीख लिये हम :(

Hindi Version in English

angootha tek the, jab ham
sarakar ne karana hamen, sign sikhaaya.
padhna seekh gaye, jab ham
aadhaar pe phir, angootha tekna sikhaaya.

ab ham kam padhe the tab, cycle chalate the.
ab ham padh gae phir, too pollution phailaate hain.
kya sach hai yahee padhna, ya ham aphavah phailaate hain.

Bachpab me thanks nahi bolte the...
Tab gaali bhi too nahi jante the,
Abhi jab thanks bolana seekh liye ham...
Fir ab gaali bhi too sheekh hi liye ham :(
- Nitin Pratap Singh
If you love this article please like, share or comment!
Bachpan to Reebok
पढ़-लिख कर हमने कार खरीदी :(
और वो...
अनपढ़ रह कर भी पेड़ लगाने चल दिए!!
Kavi Vinod Pandey Ki Kalam - 2017
खा रहें हैं जो टमाटर आजकल,दायरे में टैक्स के वो आएँगे
पी रहे हैं जो टमाटर जूस उनके, घर पे छापे जल्द मारे जायेंगे...
योग दिवस स्पेशल: योग गुरु इंडिया
भारतीय योग की जो सरिता बही तो फिर
सारे विश्ववासी स्नान-ध्यान करने लगे... [yoga day special]
त्राहि त्राहि मची है सुनलो पुकार
त्राहि त्राहि मची है सुनलो पुकार,
अन्नदाता जख्मी सुन लो कहार!!...
सहारनपुर और कश्मीर की हालत
कत्ल-ओ-गारत के इस खेल को, क्यो बढा रहे हो तुम..
दुशमन हर तरफ बैठा है, पर खुद पर पत्थर चला रहे हो तुम...
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही...
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही, हमें फ़र्क़ था माझे पर नाज था!!
डूवी मेरी कश्ती पतवार के हाथो ही, हमें फ़र्क़ था पतवार पर नाज था!!
मेरे वजूद पर अंकुश, लगाने का सुनाते है फरमान!!
सांस लेने पर प्रतिबंध जैसे, संसार पर हम है भार!!
न लव्ज न सोंच न स्वप्न, विन आत्मा है पाषाण!!
चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
दिन रात में विचरण निडर करें, ऐसी स्वाभिमान का अधिकार हो!!
चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
माँगू ईश्वर एक वरदान..
माँगू ईश्वर एक वरदान, उदर की ज्वाला हो शान्त!!
किसान की तृष्णा हो अभय, माँगूँ ईश्वर एक वरदान!!
लपेटे में नेता जी पार्ट 2...
उत्तर प्रदेश के चुनावी माहौल में हर पार्टी और हर नेता जनता को रिझाने की कोशिश में है। ऐसे में देखिए किस तरह कवियों के लपेटे में आए नेताजी।
JhandewalanJhandewalan
By the inspiration of spiritual power Shri Badri Bhagat initiate a Mata temple on hill and also install a flag therefore called Jandewala Temple but actual name of the temple is झंडेवालान (Jhandewalan), near Jhandewalan metro station.
ज्ञान मुद्रा
भारतीय संस्कृति में सबसे ज्यादा ज्ञान मुद्रा को प्राथमिकता दी जाती है। जिस कारण ही हमारे पूर्वज और ऋषिओं को सर्वज्ञ ज्ञान था।...
कौन सी धातु के बर्तन में भोजन करने से क्या लाभ और हानि?
कौन सी धातु के बर्तन में भोजन करने से क्या क्या लाभ और हानि होती है
सोना एक गर्म धातु है।...
सेल्फी लेना हो सकता है आपके लिए खतरनाक!!
Caused by overusing the muscles attached to your elbow and wrist. Taking too many photos of yourself can result in selfie elbow, latest injury related to tech equipment...
Yoga is India`s Gift to the World
Sadhguru speaks at the United Nations General Assembly on International Day of Yoga 2016, about yoga being India's gift to the world, and how it is a science of inner wellbeing.
प्राण मुद्रा
बचपन से ही चश्मा का लगना, प्राणशक्ति को बढ़ाना और शारीर को निरोग रखना प्राण मुद्रा इसके लिए रामवाण का कम करती है..
आरती: माँ महाकाली
जय काली माता, मा जय महा काली माँ।
रतबीजा वध कारिणी माता।
सुरनर मुनि ध्याता, माँ जय महा काली माँ॥...
आरती: माँ दुर्गा, माँ काली
अम्बे तू है जगदम्बे काली जय दुर्गे खप्पर वाली।
तेरे ही गुण गाये भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥...
भजन: सर को झुकालो, शेरावाली को मानलो।
सर को झुकालो, शेरावाली को मानलो, चलो दर्शन पालो चल के।
करती मेहरबानीयाँ, करती मेहरबानियां॥
भजन: तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये!
साँची ज्योतो वाली माता, तेरी जय जय कार।
तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये, मैं आया मैं आया शेरा वालिये।
भजन: चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है।
चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है।
ऊँचे पर्वत पर रानी माँ ने दरबार लगाया है।
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top