close this ads

चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!

चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
रूढवादी सोंच का बंधन नहीं, सोंच से सोंच का समागम हो!!

किताब के दायरे में नहीं, खुद एक किताब बनने तो दो!!
ख्आब देखने दो तोडो मत, होशला पस्त नहीं ऊर्जा भरने दो!!

कोई भी डगर मुश्किल नहीं, हर पथ पर कीर्ति बनने तो दो!!
कमज़ोरी का आंकलन नहीं, वीरागंनाओ का संचार भर दो!!

पक्षपात नहीं भेदभाव से उच्च, संकल्पनाओ का विस्तार करने दो!!
आज़ादी के पंखो में बेड़ियाँ नहीं, होशलो की उड़ान भरने तो दों!!

हर दिशाओ की सैर पर अंकुश नहीं, दिशाओ को इतिहास बनने तो दों!!
आज के दिन सिर्फ़ सम्मान नहीं, हर दिन सम्मान को बनने तो दो!!

दिन रात में विचरण निडर करें, ऐसी स्वाभिमान का अधिकार हो!!
चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
- आकाँक्षा जादौन
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही...
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही, हमें फ़र्क़ था माझे पर नाज था!!
डूवी मेरी कश्ती पतवार के हाथो ही, हमें फ़र्क़ था पतवार पर नाज था!!
मेरे वजूद पर अंकुश, लगाने का सुनाते है फरमान!!
सांस लेने पर प्रतिबंध जैसे, संसार पर हम है भार!!
न लव्ज न सोंच न स्वप्न, विन आत्मा है पाषाण!!
चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
दिन रात में विचरण निडर करें, ऐसी स्वाभिमान का अधिकार हो!!
चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
माँगू ईश्वर एक वरदान..
माँगू ईश्वर एक वरदान, उदर की ज्वाला हो शान्त!!
किसान की तृष्णा हो अभय, माँगूँ ईश्वर एक वरदान!!
लपेटे में नेता जी पार्ट 2...
उत्तर प्रदेश के चुनावी माहौल में हर पार्टी और हर नेता जनता को रिझाने की कोशिश में है। ऐसे में देखिए किस तरह कवियों के लपेटे में आए नेताजी।
लपेटे में नेता जी...
आप अपने भाई हास्य कवि विनोद पांडेय को यहाँ भी देख सकते हैं। न्यूज़ 18 इंडिया (जिसका पहले नाम IBN 7 था) के खास शो में। एक अद्भुत कार्यक्रम जिसमें यूपी चुनाव पर सभी पार्टी के नेताओं से कविताओं में प्रश्न पूछा गया और वो बड़ी चतुराई से उत्तर देते रहें ।
`Paa` ke sath ke wo pal... Father`s day special
`पा` की डाँट पे रूठ जाना, फिर `पा` की आँखो मे झलकता प्यार,
फिर हमारे नखरे की दरकार, सब याद आते हैं वो पल, `पा` के साथ के वो पल...
लव वाली कविता...
कुछ ऐसे वीर अभी भी है, जो याद संजोए रहते है,
गत साल मिला जो सिला इन्हे, बस उसमें खोए रहते है
इतने लाचार हैं आदत से, अब भी ये पगला जाते हैं...
दिल दिल हुआ हुआ... फकीरा......
तुम मिले तो मिले जहाँ, तुम खिले तो खिले जहाँ!
मेरी शाहिल का तुम किनारा, दिल दिल हुआ फकीरा!!
Pyar Ki Pyar Se Rachna - Vinod Pandey
आज भी वो प्यार का पंक्षी चहकता है सनम, देखकर एल्बम पुराना दिल बहकता है सनम...
Shri Jhulelal MandirShri Jhulelal Mandir
श्री झूलेलाल मंदिर (Shri Jhulelal Mandir) a religious and cultural center of Sindhi Samaj in Shalimar Bagh. Most famous Shri Uderolal temple in Delhi, near Sarvodaya Kanya Vidyalaya, Mote Wala Bagh, Police Colony and Azadpur Fruit Market.
हाथ-पैरों में आने वाले ‪पसीने‬ का उपचार
आँवला चूर्ण एवं पिसी हुई मिश्री बराबर मात्रा मे मिलाकर प्रतिदिन सुवह - शाम 1-1 चम्मच सेवन करने से कुछ समय मे ही, हाथ की हथेली और पैरों के तलवों से आने वाले पसीने की समस्या मे लाभ मिलता है...
गर्मियों में हाथ पैरों में अकड़ाहट
इसलिए प्याज के रस को गुनगुना करके हथेलियों और पैर के तलवों की मालिश करने से अकड़ाहट मे लाभ मिलता है...
तलवों मे जलन को दूर करें
गुनगुने पानी मे एक चम्मच सरसों का तेल डालकर दोनो पैर दस मिनट के लिए इसमें डुबाकर रखें...
गर्मी का हेल्थड्रिंक, सत्तू !
गर्मी मे सत्तू का सेवन हेल्थ-ड्रिंक या कोल्ड-ड्रिंक की तरह करें।
गर्मियों मे प्यास बुझाने के लिए सत्तू के शर्बत का सेवन लाभकारी होता है...
गर्मियों मे प्याज अम्रत तुल्य!
प्रतिदिन भोजन के साथ कच्चा प्याज सलाद के रूप मे सेवन करने से लू से बचाव होता है। यह भूख ना लगने तथा पतले दस्त होने पर अत्‍यन्त लाभकारी है...
भजन: वैष्णव जन तो तेने कहिये, जे...
वैष्णव जन तो तेने कहिये, जे पीड परायी जाणे रे।
पर दुःखे उपकार करे तो ये, मन अभिमान न आणे रे॥
वैष्णव जन तो तेने कहिये...
भोग आरती: आओ भोग लगाओ प्यारे मोहन…
Aawo bhog lagawo pyare mohan…
Bhilanie ke bair Sudama ke tandul
Ruchi ruchi bhog lagawo pyare Mohan…
भजन: इतनी शक्ति हमें देना दाता...
इतनी शक्ति हमें देना दाता, मनका विश्वास कमजोर हो ना
हम चलें नेक रस्ते पे, हमसे भूलकर भी कोई भूल हो ना
आरती: माँ दुर्गा, माँ काली
अम्बे तू है जगदम्बे काली जय दुर्गे खप्पर वाली।
तेरे ही गुण गाये भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥...
आरती: माँ महाकाली
जय काली माता, मा जय महा काली माँ।
रतबीजा वध कारिणी माता।
सुरनर मुनि ध्याता, माँ जय महा काली माँ॥...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top