close this ads

चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!

चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
रूढवादी सोंच का बंधन नहीं, सोंच से सोंच का समागम हो!!

किताब के दायरे में नहीं, खुद एक किताब बनने तो दो!!
ख्आब देखने दो तोडो मत, होशला पस्त नहीं ऊर्जा भरने दो!!

कोई भी डगर मुश्किल नहीं, हर पथ पर कीर्ति बनने तो दो!!
कमज़ोरी का आंकलन नहीं, वीरागंनाओ का संचार भर दो!!

पक्षपात नहीं भेदभाव से उच्च, संकल्पनाओ का विस्तार करने दो!!
आज़ादी के पंखो में बेड़ियाँ नहीं, होशलो की उड़ान भरने तो दों!!

हर दिशाओ की सैर पर अंकुश नहीं, दिशाओ को इतिहास बनने तो दों!!
आज के दिन सिर्फ़ सम्मान नहीं, हर दिन सम्मान को बनने तो दो!!

दिन रात में विचरण निडर करें, ऐसी स्वाभिमान का अधिकार हो!!
चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
- आकाँक्षा जादौन
Kavi Vinod Pandey Ki Kalam - 2017
खा रहें हैं जो टमाटर आजकल,दायरे में टैक्स के वो आएँगे
पी रहे हैं जो टमाटर जूस उनके, घर पे छापे जल्द मारे जायेंगे...
योग दिवस स्पेशल: योग गुरु इंडिया
भारतीय योग की जो सरिता बही तो फिर
सारे विश्ववासी स्नान-ध्यान करने लगे... [yoga day special]
त्राहि त्राहि मची है सुनलो पुकार
त्राहि त्राहि मची है सुनलो पुकार,
अन्नदाता जख्मी सुन लो कहार!!...
सहारनपुर और कश्मीर की हालत
कत्ल-ओ-गारत के इस खेल को, क्यो बढा रहे हो तुम..
दुशमन हर तरफ बैठा है, पर खुद पर पत्थर चला रहे हो तुम...
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही...
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही, हमें फ़र्क़ था माझे पर नाज था!!
डूवी मेरी कश्ती पतवार के हाथो ही, हमें फ़र्क़ था पतवार पर नाज था!!
मेरे वजूद पर अंकुश, लगाने का सुनाते है फरमान!!
सांस लेने पर प्रतिबंध जैसे, संसार पर हम है भार!!
न लव्ज न सोंच न स्वप्न, विन आत्मा है पाषाण!!
चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
दिन रात में विचरण निडर करें, ऐसी स्वाभिमान का अधिकार हो!!
चंद शब्दो से सम्मान नहीं, आँखो में सम्मान तो हो!!
माँगू ईश्वर एक वरदान..
माँगू ईश्वर एक वरदान, उदर की ज्वाला हो शान्त!!
किसान की तृष्णा हो अभय, माँगूँ ईश्वर एक वरदान!!
लपेटे में नेता जी पार्ट 2...
उत्तर प्रदेश के चुनावी माहौल में हर पार्टी और हर नेता जनता को रिझाने की कोशिश में है। ऐसे में देखिए किस तरह कवियों के लपेटे में आए नेताजी।
लपेटे में नेता जी...
आप अपने भाई हास्य कवि विनोद पांडेय को यहाँ भी देख सकते हैं। न्यूज़ 18 इंडिया (जिसका पहले नाम IBN 7 था) के खास शो में। एक अद्भुत कार्यक्रम जिसमें यूपी चुनाव पर सभी पार्टी के नेताओं से कविताओं में प्रश्न पूछा गया और वो बड़ी चतुराई से उत्तर देते रहें ।
Baba Bateshwarnath DhamBaba Bateshwarnath Dham
बाबा बटेश्वरनाथ धाम (Baba Bateshwarnath Dham) is the series/group of ancient 101 Lord Shiv temples therefore called Dham. Hindus make pilgrimage to the river Yamuna in honour of Lord Shiva. Some of the temples have decorative ceilings and ornamental walls.
Dengue
Dengue is a viral mosquito-borne type disease that has extent all over India and most of the Asia pacific and Latin America regions located.
Parsley Seed (अजवायन) Protect from Chronic Diseases
सर्दी जुकाम मे, बंद नाक होने की स्थति मे, अजवाइन दरदरा पीस कर बारीक कपड़े मे बाँध लें, इसे सूंघने से नाक खुल जाएगी।...
हाथ-पैरों में आने वाले ‪पसीने‬ का उपचार
आँवला चूर्ण एवं पिसी हुई मिश्री बराबर मात्रा मे मिलाकर प्रतिदिन सुवह - शाम 1-1 चम्मच सेवन करने से...
Yoga is India`s Gift to the World
Sadhguru speaks at the United Nations General Assembly on International Day of Yoga 2016, about yoga being India's gift to the world, and how it is a science of inner wellbeing.
ज्ञान मुद्रा
भारतीय संस्कृति में सबसे ज्यादा ज्ञान मुद्रा को प्राथमिकता दी जाती है। जिस कारण ही हमारे पूर्वज और ऋषिओं को सर्वज्ञ ज्ञान था। प्राचीनकाल में हमारे ऋषि महापुरुष वर्षों ज्ञान मुद्रा में बैठ कर ध्यान किया करते थे जिस कारन उनका ज्ञान सर्वत्र पूजनीय है...
भजन: क्षमा करो तुम मेरे प्रभुजी!
क्षमा करो तुम मेरे प्रभुजी, अब तक के सारे अपराध।
धो डालो तन की चादर को, लगे है उसमे जो भी दाग।
भजन: हरी नाम सुमिर सुखधाम, जगत में...
हरी नाम सुमिर सुखधाम, हरी नाम सुमिर सुखधाम
जगत में जीवन दो दिन का...
प्रेरक कहानी: एक जोड़ी, पैरों के निशान?
आपने तो कहा था. कि आप हर समय मेरे साथ रहेंगे, पर मुसीबत के समय मुझे दो की जगह एक जोड़ी ही पैर ही दिखाई दिए...
प्रेरक कहानी: अच्छे को अच्छे एवं बुरे को बुरे लोग मिलते हैं!
गुरु जी गंभीरता से बोले, शिष्यों आमतौर पर हम चीजों को वैसे नहीं दखते जैसी वे हैं, बल्कि उन्हें हम ऐसे देखते हैं जैसे कि हम खुद हैं।...
प्रेरक कहानी: जब पंडित जी नदी मे बह गए...
अनपढ़ नाविक क्या कहे, उसने इशारे में ना कहा, तब पंडित जी मुस्कुराते हुए बोले तुम्हारी तो पौनी जिंदगी पानी में गई।...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top