close this ads
Next: Ganga Dussehra [4 June] | Gayatri Jayanti [5 June]

Prachin Neeli Chatri Mandir Pandvon Kalin

Updated: Oct 25, 2016 07:22 AM
About | Timing | Photo Gallery | Map
प्राचीन नीली छतरी मंदिर पांडवों कालीन (Prachin Neeli Chatri Mandir Pandvon Kalin) - 2067 Yamuna Bazar, New Delhi - 110006
Ancient Lord Shiva temple established in mahabharata period प्राचीन नीली छतरी मंदिर पांडवों कालीन (Prachin Neeli Chatri Mandir Pandvon Kalin or Nili Chatri Temple) infront of the Baharadur Shahi Gate of Salimgarh Fort, Yamuna Bazar.

As per local community, it is believed that the eldest Pandava brother, King Yudhishthira established the temple and conducted Ashwamedha yajya from here. The temple has been mentioned only infrequently in various chronicles of Delhi.

Information

Dham
Left-Righ:
Shri Radha Krishna
Shivling with Gan
Yagyashala
Navgrah Dham
Maa Durga
Maa Tulsi
Peepal Tree
Banyan Tree
Basic Services
Drinking Water, Prasad, Shoe Store
Founder
Pandavas
Founded
After Mahabharata Period
How to Reach
Metro: Chandni Chowk, Kashmere Gate, Shastri Park | क्या संभव है? दिल्ली मेट्रो से मंदिर दर्शन...
Road: Srinagar - Kanyakumari highway >> Mahatma Gandhi Road(Ring Road) >> Grand Trunk Road
Address
2067 Yamuna Bazar, New Delhi - 110006
Photography
Yes (It's not ethical to capture photograph inside the temple when someone engaged in worship! Please also follow temple`s Rules and Tips.)
Coordinates
28.66258°N, 77.242394°E
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan

Photo Gallery

Photo in Full View
A blue shaded temple Shikhar with Blue roof, close to the banks of the Yamuna river.
A blue shaded temple Shikhar with Blue roof, close to the banks of the Yamuna river.
Temple location hold between two roads and adjacent to Nigambodh Ghat on river Yamuna
Temple location hold between two roads and adjacent to Nigambodh Ghat on river Yamuna

Prachin Neeli Chatri Mandir Pandvon Kalin on Map

http://www.npsin.in/mandir/neeli-chatri-mandir
Bhagwan Valmiki MandirBhagwan Valmiki Mandir
Swami Raghawanand Ji Maharaj from Delhi Udasin Ashram inaugurated भगवान वाल्मीकि मंदिर (Bhagwan Valmiki Mandir) on the occasion of Valmiki Jayanti in 2015. Valmiki temple is easily accessible from Rohini East metro station.
पत्तल में खाने के महत्व
» पलाश के पत्तल में भोजन करने से स्वर्ण के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
» केले के पत्तल में भोजन करने से चांदी के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
मटके के पानी के फायदे!
» इस पानी को पीने से थकान दूर होती है।
» इसे पीने से पेट में भारीपन की समस्या भी नहीं होती।
» मटके की मिट्टी कीटाणुनाशक होती है जो पानी में से दूषित पदार्थो को साफ करने का काम करती है।
हाथ-पैरों में आने वाले ‪पसीने‬ का उपचार
आँवला चूर्ण एवं पिसी हुई मिश्री बराबर मात्रा मे मिलाकर प्रतिदिन सुवह - शाम 1-1 चम्मच सेवन करने से कुछ समय मे ही, हाथ की हथेली और पैरों के तलवों से आने वाले पसीने की समस्या मे लाभ मिलता है...
गर्मियों में हाथ पैरों में अकड़ाहट
इसलिए प्याज के रस को गुनगुना करके हथेलियों और पैर के तलवों की मालिश करने से अकड़ाहट मे लाभ मिलता है...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top