close this ads
Next: Ganga Dussehra [4 June] | Gayatri Jayanti [5 June]

Kuraoli

कुरावली(Kuraoli, Kurawali) known as Rathor thakur state in 18th century, now known as one of the largest garlic and onion mandi in Uttar Pradesh.

सुज़राई वार्ड संख्या 11, नगर पंचायत कुरावली
Place: Kuraoli http://www.npsin.in/place/Kuraoli 18वीं सदी मे यहाँ राठौर ठाकुर स्टेट के राजा लक्ष्मण सिंह का राज्य था, उनके तीन रानियों का किला 80 बीघा ज़मीन पर बना हुआ था, महल से 100 मीटर पूर्व दिशा मैं रानी के पूजा का स्थान, उत्तर दिशा मैं 100 मीटर दूर लगभग 2 बीघ का पक्का तालाब था, तालाब के चारों कोनो पर कुए हैं, तालाब मे हर समय पानी भरे रहने की वजह से कुएँ दिखाई नही देते हैं. महल मैं एक 25 किलो मीटर लंबी सुरंग भी है... जो मैनपुरी के महाराज तेज सिंह के किले तक़ जाती है.

तीन सगे भाई राजा के दरबार मे पुरोहित थे, किसी बात पर राजा ने उन तीनो का अपमान किया, जिससे क्रोधित होकर उन्होने राजा को श्राप दे दिया, जिससे राजा का वंश नष्ट हो गया|

उन तीनो पुरोहितों ने अलग अलग स्थान पर आपनी समधी लगाई, उन तीनो ही स्थान पर आज भी मेला लगता है, और ये स्थान इन नामों के प्रसिद्ध है,
* गेलानाथ पुल पीपरा के नीचे
* चंद्रपुरा पीपरा के नीचे
* हनुमान मंदिर पीपरा के नीचे
होली के बाद इन तीनो जगह पर धूम-धाम से मेले का आयोजन होता है|
सौजन्य: शरद कुमार सिंह

Hospitals

Sarkari Hospital

Secondary/Inter Colleges

Dev Nagri Inter College
Shri Malikhan Inter College
Lallu Singh Inter College
Shri Malikhan Degree College
Shri Kamla Smrati Degree College
Abanti bai Inter College

Telephone/CUG Nos. of Officials

District Megistrate, DM: 05672-234308(O), 234401 (R)
Superintendent of Police,SP: 05672-234660(O), 234442(O), 234402(R)

List of all Banks

Punjab National Bank
IFSC: PUNB0691800; Branch: 691800
AXIS BANK
IFSC: UTIB0001801; MICR: 205211202; Branch:001801

Information About Kuraoli

Governing Body
Nagar Palika Parishad Kuraoli
District
Mainpuri
State
Uttar Pradesh, India
PIN
205265
Official Languages
Hindi
Vehicle registration
UP 84
Telephone code
+91 5676
Lok Sabha
Mainpuri
Major highways
NH 91 (G T Road)
Near railway(stn)
Mainpuri
Time zone
IST (UTC+5:30)
Coordinates
27.24°N 78.59°E
Nearby Airports
Agra, Farrukhabad Airstrip, Safai Airstrip Gwalior, Mathura Heliport
best wordpress hosting
Bhagwan Valmiki MandirBhagwan Valmiki Mandir
Swami Raghawanand Ji Maharaj from Delhi Udasin Ashram inaugurated भगवान वाल्मीकि मंदिर (Bhagwan Valmiki Mandir) on the occasion of Valmiki Jayanti in 2015. Valmiki temple is easily accessible from Rohini East metro station.
दिल्ली के प्रमुख श्री कृष्ण प्रणामी मंदिर
List of top Shri Krishna Pranami Dharm Temples in New Delhi, Noida, Ghaziabad...
दिल्ली के प्रसिद्ध वाल्मीकि मंदिर!
Maharishi Valmiki is considered as the first poet of Sanskrit language. Indian valmiki samaj worship him as a God. List of Bhagwan Valmiki temples of New Delhi, Noida, Ghaziabad, and Gurugram.
दिल्ली के प्रसिद्ध श्री शनिदेव मंदिर - 25 May 2017
Surydev's son Shri Shanidev governs planet Saturn, one of the member in Navgrah. Devotees pray Him on weekday Saturday.
List of top famous Shri Shanidev temples in New Delhi, Noida, Gurugram and Ghaziabad...
श्री शनि जयंती के लिए दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर - 25 May 2017
श्री शनि जयंती! सूर्य देव एवं देवी छाया के पुत्र श्री शनिदेव के अवतरण दिवस के रूप मे मनाई जाती है।
आगे देखिए दिल्ली, गाज़ियाबाद के कुछ प्रसिद्ध मंदिर जहाँ मनाई जाती है, श्री शनि जयंती!
चालीसा: श्री शनिदेव जी
जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल करण कृपाल।
दीनन के दुख दूर करि, कीजै नाथ निहाल॥
पत्तल में खाने के महत्व
» पलाश के पत्तल में भोजन करने से स्वर्ण के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
» केले के पत्तल में भोजन करने से चांदी के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
मटके के पानी के फायदे!
» इस पानी को पीने से थकान दूर होती है।
» इसे पीने से पेट में भारीपन की समस्या भी नहीं होती।
» मटके की मिट्टी कीटाणुनाशक होती है जो पानी में से दूषित पदार्थो को साफ करने का काम करती है।
हाथ-पैरों में आने वाले ‪पसीने‬ का उपचार
आँवला चूर्ण एवं पिसी हुई मिश्री बराबर मात्रा मे मिलाकर प्रतिदिन सुवह - शाम 1-1 चम्मच सेवन करने से कुछ समय मे ही, हाथ की हथेली और पैरों के तलवों से आने वाले पसीने की समस्या मे लाभ मिलता है...
गर्मियों में हाथ पैरों में अकड़ाहट
इसलिए प्याज के रस को गुनगुना करके हथेलियों और पैर के तलवों की मालिश करने से अकड़ाहट मे लाभ मिलता है...
तलवों मे जलन को दूर करें
गुनगुने पानी मे एक चम्मच सरसों का तेल डालकर दोनो पैर दस मिनट के लिए इसमें डुबाकर रखें...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top