close this ads

Kuraoli

कुरावली(Kuraoli, Kurawali) known as Rathor thakur state in 18th century, now known as one of the largest garlic and onion mandi in Uttar Pradesh.

सुज़राई वार्ड संख्या 11, नगर पंचायत कुरावली
Place: Kuraoli http://www.npsin.in/place/Kuraoli 18वीं सदी मे यहाँ राठौर ठाकुर स्टेट के राजा लक्ष्मण सिंह का राज्य था, उनके तीन रानियों का किला 80 बीघा ज़मीन पर बना हुआ था, महल से 100 मीटर पूर्व दिशा मैं रानी के पूजा का स्थान, उत्तर दिशा मैं 100 मीटर दूर लगभग 2 बीघ का पक्का तालाब था, तालाब के चारों कोनो पर कुए हैं, तालाब मे हर समय पानी भरे रहने की वजह से कुएँ दिखाई नही देते हैं. महल मैं एक 25 किलो मीटर लंबी सुरंग भी है... जो मैनपुरी के महाराज तेज सिंह के किले तक़ जाती है.

तीन सगे भाई राजा के दरबार मे पुरोहित थे, किसी बात पर राजा ने उन तीनो का अपमान किया, जिससे क्रोधित होकर उन्होने राजा को श्राप दे दिया, जिससे राजा का वंश नष्ट हो गया|

उन तीनो पुरोहितों ने अलग अलग स्थान पर आपनी समधी लगाई, उन तीनो ही स्थान पर आज भी मेला लगता है, और ये स्थान इन नामों के प्रसिद्ध है,
* गेलानाथ पुल पीपरा के नीचे
* चंद्रपुरा पीपरा के नीचे
* हनुमान मंदिर पीपरा के नीचे
होली के बाद इन तीनो जगह पर धूम-धाम से मेले का आयोजन होता है|
सौजन्य: शरद कुमार सिंह

Hospitals

Sarkari Hospital

Secondary/Inter Colleges

Dev Nagri Inter College
Shri Malikhan Inter College
Lallu Singh Inter College
Shri Malikhan Degree College
Shri Kamla Smrati Degree College
Abanti bai Inter College

Telephone/CUG Nos. of Officials

District Megistrate, DM: 05672-234308(O), 234401 (R)
Superintendent of Police,SP: 05672-234660(O), 234442(O), 234402(R)

List of all Banks

Punjab National Bank
IFSC: PUNB0691800; Branch: 691800
AXIS BANK
IFSC: UTIB0001801; MICR: 205211202; Branch:001801

Information About Kuraoli

Governing Body
Nagar Palika Parishad Kuraoli
District
Mainpuri
State
Uttar Pradesh, India
PIN
205265
Official Languages
Hindi
Vehicle registration
UP 84
Telephone code
+91 5676
Lok Sabha
Mainpuri
Major highways
NH 91 (G T Road)
Near railway(stn)
Mainpuri
Time zone
IST (UTC+5:30)
Coordinates
27.24°N 78.59°E
Nearby Airports
Agra, Farrukhabad Airstrip, Safai Airstrip Gwalior, Mathura Heliport
best wordpress hosting
Baba Bateshwarnath DhamBaba Bateshwarnath Dham
बाबा बटेश्वरनाथ धाम (Baba Bateshwarnath Dham) is the series/group of ancient 101 Lord Shiv temples therefore called Dham. Hindus make pilgrimage to the river Yamuna in honour of Lord Shiva. Some of the temples have decorative ceilings and ornamental walls.
प्रेरक कहानी: एक जोड़ी, पैरों के निशान?
आपने तो कहा था. कि आप हर समय मेरे साथ रहेंगे, पर मुसीबत के समय मुझे दो की जगह एक जोड़ी ही पैर ही दिखाई दिए...
प्रेरक कहानी: अच्छे को अच्छे एवं बुरे को बुरे लोग मिलते हैं!
गुरु जी गंभीरता से बोले, शिष्यों आमतौर पर हम चीजों को वैसे नहीं दखते जैसी वे हैं, बल्कि उन्हें हम ऐसे देखते हैं जैसे कि हम खुद हैं।...
प्रेरक कहानी: जब पंडित जी नदी मे बह गए...
अनपढ़ नाविक क्या कहे, उसने इशारे में ना कहा, तब पंडित जी मुस्कुराते हुए बोले तुम्हारी तो पौनी जिंदगी पानी में गई।...
प्रेरक कहानी: कद्दू का तीर्थ स्नान!
वह कद्दू ले लिया, और जहाँ-जहाँ गए, स्नान किया वहाँ-वहाँ स्नान करवाया। मंदिर में जाकर दर्शन किया तो उसे भी दर्शन करवाया।...
प्रेरक कहानी: हर समस्या का कोई हल होता है!
परेशानी के भंवर मे अपने को फंसा पाओ, कोई प्रकाश की किरण नजर ना आ रही हो, हर तरफ निराशा और हताशा हो तब तुम इस ताबीज को खोल कर इसमें रखे कागज़ को पढ़ना, उससे पहले नहीं!
Dengue
Dengue is a viral mosquito-borne type disease that has extent all over India and most of the Asia pacific and Latin America regions located.
Parsley Seed (अजवायन) Protect from Chronic Diseases
सर्दी जुकाम मे, बंद नाक होने की स्थति मे, अजवाइन दरदरा पीस कर बारीक कपड़े मे बाँध लें, इसे सूंघने से नाक खुल जाएगी।...
हाथ-पैरों में आने वाले ‪पसीने‬ का उपचार
आँवला चूर्ण एवं पिसी हुई मिश्री बराबर मात्रा मे मिलाकर प्रतिदिन सुवह - शाम 1-1 चम्मच सेवन करने से...
Yoga is India`s Gift to the World
Sadhguru speaks at the United Nations General Assembly on International Day of Yoga 2016, about yoga being India's gift to the world, and how it is a science of inner wellbeing.
ज्ञान मुद्रा
भारतीय संस्कृति में सबसे ज्यादा ज्ञान मुद्रा को प्राथमिकता दी जाती है। जिस कारण ही हमारे पूर्वज और ऋषिओं को सर्वज्ञ ज्ञान था। प्राचीनकाल में हमारे ऋषि महापुरुष वर्षों ज्ञान मुद्रा में बैठ कर ध्यान किया करते थे जिस कारन उनका ज्ञान सर्वत्र पूजनीय है...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top